माझी छेत्र में आगलगी से दो मकान व दो मवेशी झुलसे

मांझी क्षेत्र के शुक्रवार की देर शाम सरयू नदी के तट पर बसे गैरद पुर गांव में हुई भीषण अगलगी में 9 झोपड़ी नुमा आशियाना जल कर राख हो गया वहीं एक पक्का मकान भी क्षतिग्रस्त हो गया। जब कि इस अगलगी में दो मवेशी भी झुलस गई जिस में एक कि मौत हो गई। आग की लपटें इतनी तेज थी कि बिजली की तार भी पिघल कर गिर पड़ी। ग्रामीणों व फायर ब्रिगेड के मिनी वाहन की सहायता से काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार की शाम ज्यादातर लोग खेत में गेंहूँ की कटनी आदि करने गए थे। तभी अचानक एक झोपड़ी में पहले आग लगी। देखते हीं देखते आग ने रौद्र रूप धारण करते सभी झोपड़ियों से समेत पक्के मकान को अपने चपेट में ले लिया।

लोगों में अफरा-तफरी मच गई। इस बीच लोगों ने घटना की सूचना स्थानीय थाना पुलिस को दी। कुछ देर बाद ही थानाध्यक्ष नीरज मिश्रा दल-बल के साथ पहुंच गए। उसके बाद ग्रामीणों व मिनी फायर ब्रिगेड के तीन वाहनों की सहायता से आग पर काबू पाया गया। तब तक सभी झोपड़ियां अंदर रखे सामान के साथ जल कर बर्बाद हो चुकी थी।

पीड़ित लोगों ने बताया कि इस घटना में अम्बिका साह की भैंस झुलस कर बुरी तरह से घायल हो गई जबकि एक पाड़ी की झुलसने से मौत हो गई। तीन साईकिल, अनाज समेत लाखों रूपये मूल्य की सम्पति को नुकसान पहुंचा है। ज्यादातर लोग निर्धन काफी परिवार के हैं। समाचार प्रेषण तक लोगों में हाहाकार मचा था। आग लगने का कारण स्पष्ट नही हो सका है।

error: Content is protected !!